अब नेता जी को हर खर्च का रखना होगा हिसाब, अब चाय पिलाने से लेकर बिस्कुट खिलाने तक पर रहेगी आयोग की पैनी नजर

 


काशीपुर। ( काशीभूमि ब्यूरो) चुनाव आयोग नेताजी की ओर से चुनाव में होने वाले हर खर्च पर पैनी नजर रखने जा रहा है । नेता जी को चाय से लेकर स्वागत कार्यक्रम में बनाई जाने वाली माला और फूलों के गुलदस्ता का भी हिसाब किताब देना होगा।  विधानसभा के चुनाव में प्रत्याशियों को अधिकतम खर्च की सीमा चालीस लाख रुपए निर्धारित है, लेकिन प्रचार में प्रत्याशी इससे भी कई गुना ज्यादा खर्च करते हैं।  प्रत्येक प्रत्याशी निर्धारित सीमा के भीतर ही रूपया खर्च करें इसके लिए चुनाव आयोग प्रत्याशी के खर्च पर नजर रखने जा रहा है। विधानसभा चुनाव 2022  के सुचारु सम्पादन हेतु भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार विभिन्न राजनीतिक दलों / प्रत्याशियों के द्वारा सामान्य रूप से प्रचार प्रसार में प्रयुक्त होने वाली विभिन्न प्रकार की सामग्री एवं वस्तुएँ आदि मदों की अनुमानित बाजार मूल्य के अनुसार निर्धारित किये गए है। जिला निर्वाचन अधिकारी / जिलाधिकारी उधमसिंह नगर युगल किशोर पंत ने सभी राजनीतिक दलों/ अभ्यर्थियों तथा निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण तंत्र द्वारा निर्धारित दरों पर निर्वाचन व्यय लेखा के रख रखाव हेतु निर्देशित किया गया है। यानी प्रत्याशी  को भी चुनाव मैं किए गए खर्च का हिसाब आयोग को देना होगा।  प्रत्याशी की ओर से किए जा रहे खर्च पर निगाह रखने के लिए टीम गठित की गई है,  प्रचार में इस्तेमाल होने वाली सामग्री टोपी, पानी की बोतलें, कोल्ड ड्रिंक,नमकीन, बिस्कुट, विजिटिंग कार्ड,  डीजे सिस्टम आपरेटर सहित, बिल्ला, कलेण्डर टुकटुक ई रिक्शा, डिस्पोजल गिलास, हैंडव्हील, बुक किए गए होटल के कमरे आदि की दरें भी तय कर दी गई है इसके अलावा समर्थकों को चाय पिलाने, चुनाव कार्यालय का किराया, कटआउट, झंडे, बस डीजल सहित, छोले/राजमा/कड़ी चावल, नैपकिन, लकड़ी चम्मच आदि की दरें भी तय की गई है। प्रत्याशी को हफ्ते में दो या तीन दिन हर मद  के लिए किये जाने वाले खर्चे का ब्यौरा चुनाव आयोग को देना होगा।

Comments

Popular posts from this blog

गगन काम्बोज ने उठाया ये राजनीतिक कदम, इस पार्टी में हुए शामिल, क्या लड़ेंगे चुनाव....

काशीपुर में लगे यह पोस्टर बने चर्चा का बिषय !

नैनी पेपर मिल के एमडी पवन अग्रवाल को नई उपलब्धि पर बधाइयों का तांता